Azadi Podcast EP: 14 15 मिनट रोज का अभ्यास, बोलो इंग्लिश फर्राटेदार

बजट प्राइवेट स्कूलों के बच्चे सिर्फ 15 मिनट रोज के अभ्यास से फर्राटेदार अंग्रेजी बोलना न केवल सीख रहें हैं बल्कि अपनी अंग्रेजी से सबको प्रभावित भी कर रहे हैं। लॉकडाउन के कारण स्कूलों के बंद होने के दौरान ऐसा क्या हुआ और कैसे हुए जिससे बच्चों ने न केवल उस खाली समय का सदुपयोग किया बल्कि एक महत्वपूर्ण कौशल को आत्मसात किया। आजादी पॉडकास्ट के इस एपिसोड में इन सबके बारे में विस्तार से बता रहे हैं प्रोजेक्ट 'बोलो इंग्लिश' के इन्क्यूबेटर रोहन जोशी और पड़ताल कर रहे हैं आजादी.मी के अविनाश चंद्र|

Azadi Podcast Ep 12: कानून जो प्रयोग में नहीं उन्हें कानून की किताब में क्यों रखना?

प्रधानमंंत्री नरेंद्र मोदी पुराने और बेकार कानूनों के समापन को लेकर अपने पहले कार्यकाल से ही काफी गंभीर रहे हैं। इस मुद्दे को उन्होंने न केवल चुनावी रैलियों में जोर शोर से उठाया बल्कि सरकार का गठन होने के बाद इस पर तेजी से काम भी किया। पहले कार्यकाल में जहां 2 हजार से अधिक कानूनों का समापन हुआ वहीं दूसरे कार्यकाल में भी यह काम लगातार जारी है। हाल ही में केंद्र सरकार ने अपने सभी मंत्रालयों को पत्र लिखकर जल्द से जल्द अपने विभागों से संबंधित अप्रासंगिक और बेकार कानूनों की सूची सौंपने को कहा है ताकि उन्हें शीघ्र समाप्त किया जा सके..। आजादी पॉडकास्ट के इस एपिसोड में आजादी.मी के संपादक और होस्ट अ

Azadi Podcast Ep 11: आजादी पॉडकास्टः कानूनों की गुणवत्ता और उन्हें सुनिश्चित करने के तरीके

सेंटर फॉर सिविल सोसायटी द्वारा प्रस्तुत आज़ादी पोडकास्ट के इस एपिसोड में हम चर्चा करेंगे देश में कानूनों की गुणवत्ता और उन्हें सुनिश्चित करने के तरीकों के बारे में I हम जानने की कोशिश करेंगे कि किस प्रकार कुछ प्रक्रियाओं को आत्मसात कर अच्छी नियत के साथ लागू किये गए कानूनों के अवांछनीय परिणामों से बचा जा सकता है I साथ ही हम इस क्षेत्र में वैश्विक स्तर पर उठाए गए कदमों की भी पड़ताल करेंगें I इस महत्वपूर्ण चर्चा को होस्ट कर रहे हैं आज़ादी.मी के संपादक अविनाश चंद्र और वक्ता हैं थिंक टैंक  सेंटर फॉर सिविल सोसायटी की रिसर्च टीम से जुड़े एडवोकेट प्रशांत नारंग और जयना बेदी I

Azadi Podcast Ep 10: कृषि सुधार कानून 2020 - समस्या या समाधान | किसान नेता गुनवंत पाटिल के साथ

सेंटर फॉर सिविल सोसायटी द्वारा प्रस्तुत आज़ादी पोडकास्ट के इस एपिसोड में आज हम चर्चा करेंगे बहुचर्चित कृषि सुधार कानून 2020 पर। हम यह जानने की कोशिश करेंगे कि इन सुधारात्मक कानूनों के बारे में आम किसान क्या सोचता है और क्या वास्तव में किसानों का कुछ भला होगा? इस महत्वपूर्ण विषय को होस्ट कर रहे हैं आज़ादी.मी के संपादक अविनाश चंद्र और वक्ता हैं गुनवंत पाटिल। गुनवंत पाटिल किसान परिवार से ताल्लुक रखते हैं और पेशे से इंजीनियर और पैशन से फिलांथ्रोपिस्ट हैं। पाटिल किसानों के सबसे बड़े संगठन शेतकरी संगठन से जुड़े हैं और स्वतंत्र भारत पक्ष नामक राजनैतिक संगठन के जनरल सेक्रेटरी भी हैं।

Azadi Podcast Ep. 09: कोरोना और कानून

सेंटर फॉर सिविल सोसाइटी द्वारा प्रस्तुत अज़ादी पोडकास्ट के इस एपिसोड में आज चर्चा महामारी की स्थिति से निपटने के लिए देश में मौजूद कानून, अनुपालन की प्रक्रिया और उसके संवैधानिक ढांचे के संदर्भ में। इस महत्वपूर्ण विषय को होस्ट कर रहे हैं आजादी.मी के संपादक अविनाश चंद्र और वक्ता हैं कानूनी मामलों के जानकार सुधांशु नीमा। सुधांशु सेंटर फॉर सिविल सोसायटी की कम्यूनिकेशन टीम में मैनेंजर के पद पर कार्यरत हैं।

Azadi Podcast Ep. 08: कृषि, किसान और डायरेक्ट कैश ट्रांसफर

सेंटर फॉर सिविल सोसायटी द्वारा प्रस्तुत आज़ादी पॉडकास्ट के इस एपिसोड में फाउंडेशन फॉर इकोनॉमिक डेवलपमेंट के सीनियर प्रोग्राम मैनेजर देवाशीष देशपांडे के साथ ‘कृषि सब्सिडी की तार्किकता’ की पड़ताल कर रहे हैं सेंटर फॉर सिविल सोसायटी के रिसर्च मैनेजर व होस्ट सुधांशु नीमा। इस पॉडकास्ट में किसानों को सब्सिडी वस्तुओं के रूप में प्रदान करने की बजाए डायरेक्ट कैश ट्रांसफर के माध्यम से प्रदान किए जाने की संभावनाओं और इसकी जटिलताओं पर विस्तार से चर्चा की गई है।

Azadi Podcast Ep. 07: रोज़गार: संकट और समाधान

सेंटर फॉर सिविल सोसाइटी के द्वारा प्रस्तुत, आजादी पॉडकास्ट की इस कड़ी में हम चर्चा कर रहे हैं भारत में बढ़ती बेरोजगारी के मुख्य कारणों पर। इस विषय पर बात करने के लिए हमारे साथ मौजूद हैं हमारे आज के मेहमान यज़द जल। यज़द के साथ बातचीत कर रहे हैं होस्ट सुधांशु नीमा।

यज़द जल, सेंटर फॉर सिविल सोसायटी की एकेडमी टीम के डायरेक्टर हैं और रोजगार संबंधी नीतियों के जानकार हैं ,और इस विषय पर किए गए अपने शोध कार्यों के लिए जाने जाते हैं। होस्ट सुधांशु, सेंटर फॉर सिविल सोसायटी की एडवोकेसी टीम में मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं।

Azadi Podcast Ep. 06: अँधा कानून
Azadi Podcast Ep. 05: नई शिक्षा नीति और एडुप्रेन्योर्स

काफी इंतजार के बाद पिछले वर्ष राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2019 ड्राफ्ट आखिरकार जारी हो ही गया। यह ड्राफ्ट 484 पृष्ठों का व्यापक दस्तावेज है जिसे तैयार करने में चार वर्षों से अधिक का समय लगा

Azadi Podcast Ep. 04: दिल्ली: स्कूली शिक्षा का सच - II

सेंटर फॉर सिविल सोसाइटी द्वारा प्रस्तुत, अज़ादी पोडकास्ट के इस एपिसोड में होस्ट अमित चंद्रा पिछले सप्ताह की बातचीत को आगे बढ़ाते हैं भुवना आनंद और अभिषेक रंजन के साथ। वे सीखने के परिणामों को बेहतर बनाने के लिए दिल्ली सरकार द्वारा किए गए हस्तक्षेपों पर चर्चा करते हैं।   

अभिषेक रंजन और अमित चंद्रा ने शिक्षा के विषय पर पिछले दस वर्षो में ज़मीनी स्तर पर काफी काम किया है। भुवना आनंद सेंटर फॉर सिविल सोसाइटी के रिसर्च डिपार्टमेंट की डायरेक्टर हैं।   

Subscribe to Azadi.me